Sanjana Kirodiwal

Story With Sanjana
Telegram Group Join Now

“तेरे इश्क़ में” – 7

Tere Ishq Me – 7

Tere Ishq Me
Tere Ishq Me

साहिबा , पल्लवी , प्रिया और रुबीना तैयार होकर नीचे चली आयी। पल्लवी के पापा उन चारो के लिए गाड़ी भेज दी थी। घर में कुछ बुजुर्ग मेहमान थे जो संगीत फंक्शन में नहीं जा रहे थे। पल्लवी , प्रिया और रुबीना तीनो पीछे बैठ गयी और साहिबा आगे ड्राइवर के बगल में बैठ गयी। गेस्ट हॉउस घर से 15 मिनिट की दुरी पर था। पल्लवी थोड़ा चुप चुप थी लेकिन रुबीना , प्रिया और साहिबा तीनो मस्ती मजाक कर रही थी। शीशे में जब साहिबा को पल्लवी का चेहरा दिखा तो उसने पलटकर अपना अपना हाथ पल्लवी के हाथ पर रखकर आँखों ही आँखों में इशारा किया। पल्लवी मुस्कुराई और ना में गर्दन हिला दी। साहिबा ने पल्लवी के हाथ को थामे रखा और पीछे ही चेहरा घुमाकर सबसे बात करती रही। साहिबा को लगा शायद शादी के दिन नजदीक आने की वजह से पल्लवी अपसेट है। गाड़ी गेस्ट हॉउस पहुंची। सभी नीचे उतरी पल्लवी की बहने और बाकि रिश्तेदार भी वहा चले आये और सब पल्लवी को लेकर अंदर चले आये। अश्विनी (पल्लवी का होने वाला पति) के रिश्तेदार और घरवाले वहा पहले से ही मौजूद थे।
हॉल में संगीत का आयोजन रखा हुआ था। पल्लवी को अपने घरवालों के साथ बिजी देखकर साहिबा , प्रिया और रुबीना एक साइड चली आयी। कुछ देर बाद लक्ष्य भी चला आया। लक्ष्य से इन चारो की मुलाकात दिल्ली में ही हुई थी उसे देखते ही रुबीना ने कहा,”तुम कुछ ज्यादा ही जल्दी नहीं आ गए ?”
“टाइम से पहुंच तो गया”,लक्ष्य ने कहा तो साहिबा ने बीच में आते हुए कहा,”अब तुम दोनों शुरू मत हो जाना”
“हे साहिबा इस येल्लो साड़ी में कमाल लग रही हो”,लक्ष्य ने साहिबा की तारीफ करते हुए कहा
“थैंक्यू”,साहिबा ने बहुत ही सधे हुए स्वर में कहा
“गाईज सब साथ में है एक सेल्फी लेते है ना”,प्रिया ने अपने फोन का कैमेरा ऑन करते हुए कहा
साहिबा , रुबीना लक्ष्य उसकी बगल में आकर खड़े हो गए। प्रिया जैसे ही सेल्फी लेने लगी उधर से पार्थ गुजरा एक पल के लिए उसकी नजर साहिबा पर जाकर ठहर सी गयी। सिंपल लुक में वो बहुत अच्छी लग रही थी। पार्थ उन लोगो के पास आया तो रुबीना ने कहा,”तुम भी आ जाओ”
“मैं इस साइड आ जाता हूँ”,कहते हुए पार्थ साहिबा की बगल में आकर खड़ा हो गया। दोनों साथ में काफी अच्छे लग रहे थे। प्रिया के बाद पार्थ ने अपने जेब से फोन निकालकर कहा,”एक मेरे फोन से”
कहते हुए पार्थ ने फोन अपने फोन से सबके साथ सेल्फी ली। कुछ दूर अश्विनी के साथ खड़ी पल्लवी की नजर पार्थ और साहिबा पर चली गयी उन दोनों को साथ सेल्फी लेते देखकर पल्लवी को ना जाने क्यों अच्छा नहीं लग रहा था ? अश्विनी ने कुछ कहते हुए जब उसके कंधे को थपथपाया तो पल्लवी की नजर उन दोनों से हटी और उसने अश्विनी की बात सुनी।
“हम दोनों को वहा बुला रहे है चले ?”,अश्विनी ने कहा तो पल्लवी उसके साथ वहा से चली गयी। पार्थ भी वहा से चला गया। संगीत शुरू हो चुका था। साहिबा , प्रिया और रुबीना भी उस तरफ चली आयी। लक्ष्य भी कॉफी पीते हुए यहाँ वहा घूमने लगा। डांस शुरू हुआ सबसे पहले अश्विनी और पल्लवी ने डांस किया। उन दोनों को साथ डांस करते देखकर सभी बहुत खुश हो रहे थे। साहिबा तो हूटिंग पर हूटिंग किये जा रही थी। रुबीना और प्रिया भी फूल इन्जॉय कर रही थी।

एक के बाद एक सभी डांस कर रहे थे। कुछ देर बाद पल्लवी , रुबीना , प्रिया और साहिबा का साथ में एक डांस परफॉर्मेंस था। अश्विनी की साइड से आये लड़के और पार्थ के कुछ दोस्त साथ ही खड़े थे कुछ की नजर रुबीना प्रिया पर थी तो बाकी सबकी साहिबा पर , पीले रंग की साड़ी में वह कुछ ज्यादा ही अच्छी
लग रही थी।
पार्थ भी उन सबके साथ खड़े होकर डांस देखने लगा। उसे ना पल्लवी दिखाई दे रही थी ना ही प्रिया , रुबीना उसकी नजरे सिर्फ साहिबा पर थी। तभी उसके कानो में किसी लड़के की आवाज पड़ी,”यार ये साड़ी वाली लड़की क्या कमाल लग रही है , इसका नंबर मिल जाए बस”
“हम दे दे नंबर”,पार्थ ने लड़के को घूरते हुए कहा तो लड़का खामोश होकर वहा से चला गया। पार्थ को लड़के की बात से एक अजीब सी जलन महसूस होने लगी। वह वहा से निकलकर साइड में चला आया। कुछ देर बाद सभी नीचे चली आयी और दूसरे लोग डांस करने लगे। साहिबा ने पार्थ की तरफ देखा तो उसकी नजरे पार्थ से जा मिली दोनों का दिल धड़क उठा और दोनों ने ही नजरे हटा ली। कुछ देर बाद पल्लवी ने साहिबा से अकेले डांस करने को कहा। साहिबा डांस फ्लोर पर आयी उसने आज स्पेशली डांस के लिए ही ये पीले रंग की साड़ी पहनी थी। म्यूजिक सिस्टम पर गाना बजने लगा जैसे ही गाने की धुन शुरू हुई सभी हूटिंग करने लगे , लाइट्स कुछ डिम हो गयी। गाना ही कुछ ऐसा था की सबकी नजरे साहिबा पर जा टिकी ,, मोहरा फिल्म का गाना “टिप टिप बरसा पानी” किसे याद नहीं होगा ?
साहिबा ने भी डांस के लिए इसी गाने को चुना और उस पर थिरकने लगी। पार्थ ने देखा तो उसकी नजरे साहिबा से हटने का नाम नहीं ले रही थी। पल्लवी , प्रिया और रुबीना भी खूब हूटिंग कर रही थी। डांस करते हुए साहिबा की नजर पार्थ पर चली गयी वह उसे ही देख रहा था ,,,,, पल्लवी ने जब दोनों को देखा तो उसके मन में फिर से उलझन बढ़ने लगी। साहिबा ने बहुत अच्छा डांस किया खुद अश्विनी भी उसे ही देखे जा रहा था। प्रिया ने देखा तो पल्लवी से कहा,”तेरे अश्विनी को देख वो तो पूरा फ्लेट हो गया है अपनी साली साहिबा पर”
पल्लवी मुस्कुराई और कहा,”मेरी दोस्त है ही इतनी कमाल , तुम सब लोग इंजॉय करो मैं आती हूँ” कहकर पल्लवी किसी काम से वहा से चली गयी। पल्लवी के जाने के बाद पार्थ प्रिया और रुबीना के पास चला आया और कहा,”यार बहुत गजब डांस करती है ये तो”
“हाँ तुम्हारी तो नजरे नहीं हट रही है साहिबा से , वैसे तुम चाहो तो जाकर उसके साथ डांस कर सकते हो”,रुबीना ने पार्थ के कंधे को अपने कंधे से टकराकर कहा तो पार्थ ने शरमाते हुए कहा,”अरे नहीं हमे कहा डांस आता है ?”
कहकर पार्थ वहा से चला गया और जाकर अश्विनी के बगल में बैठ गया ताकि आराम से साहिबा को करीब से डांस करते हुए देख सके। गाना ख़त्म हुआ तो साहिबा नीचे चली आयी सभी उसकी तारीफ कर रहे थे तालियां बजा रहे थे और खुश थे। पार्थ बीच बीच में साहिबा को देख लेता , वह अश्विनी के पास बैठा था लेकिन नजर साहिबा पर थी। कुछ देर बाद पल्लवी चली आयी डांस अभी भी चल रहा था। पल्लवी के पापा ने सबको खाना खाने के लिए कहा।
पल्लवी के ससुराल वाले भी वही थे और सब चाहते थे की पल्लवी उनके साथ खाना खाये। पल्लवी ने साहिबा , रुबीना और प्रिया से भी साथ चलने को कहा लेकिन साहिबा ने कहा,”आज तुम्हारे ससुराल वालो का दिन है तुम इंजॉय करो हम सब साथ में खा लेंगे , वैसे भी जीजू तुम्हारे साथ अकेले में कुछ टाइम स्पेंड करना चाहेंगे तो तुम आज उन्ही के साथ खाओ”
“आर यू स्योर ?”,पल्लवी ने पूछा
“अरे बाबा हाँ , तू जा”,साहिबा ने कहा तो पल्लवी प्यार से उसका गाल छूकर वहा से चली गयी।

पल्लवी और अश्विनी के लिए अलग से टेबल पर खाना लगाया जहा उनके साथ कुछ लोग और भी थे। अश्विनी ने पल्लवी को अपने हाथ से खिलाया सभी बातें करते हुए खाना खा रहे थे। दूसरी तरफ लक्ष्य , साहिबा , रुबीना और प्रिया साथ साथ खाने लगे। घूमते घामते पार्थ वहा आया और कहा,”आप लोगो को कुछ चाहिए ?”
“हाँ मुझे एक आइसक्रीम”,रुबीना ने कहा
“मेरे लिए भी एक ग्लास पानी”,रुबीना ने कहा
“और आप क्या लेंगी ?”,पार्थ ने बड़े प्यार से साहिबा की तरफ देखकर पूछा
“खाना खाया ?” साहिबा ने पार्थ से कुछ मंगवाने के बजाय उस से सवाल किया तो पार्थ साहिबा की आँखों में देखने लगा। साहिबा पहली लड़की थी जिस ने आज की शाम पार्थ को खाने के लिए पूछा था वरना बाकी सब तो उसे किसी ना किसी काम के लिए ही बोल रहे थे। साहिबा के चेहरे से नजरे हटाकर उसने कहा,”अरे अभी कहा अभी तो बहुत काम है , आप लोग खाओ ना हम बाद में खा लेंगे”
साहिबा ने सूना तो अपनी प्लेट टेबल पर रखी और कहा,”बैठो”
“क्यों ?”,पार्थ ने कहा
“कहा ना बैठो ?”,साहिबा ने लगभग पार्थ को आर्डर देते हुए कहा तो पार्थ चुपचाप बैठ गया
साहिबा खाने के स्टॉल की तरफ गयी और वापस आयी तो उसके हाथ में खाने की प्लेट थी। उसने प्लेट पार्थ के सामने रखते हुए कहा,”आपको क्या पसंद है मुझे नहीं पता इसलिए मैं अपने हिसाब से ले आयी”
“अरे आप जो खिला दो खा लेंगे”,पार्थ ने मुस्कुराते हुए कहा
साहिबा मुस्कुरायी और दूसरी तरफ जाकर बैठ गयी। प्रिया रुबीना और लक्ष्य भी वही बैठकर खाने लगे। पल्लवी के साथ खाना खाते हुए अश्विनी ने धीरे से कहा,”ये पार्थ और साहिबा के बीच कुछ है क्या ?”
अश्विनी की बात सुनकर पल्लवी ने हैरानी से उसकी तरफ देखा तो अश्विनी ने कहा,”मेरा मतलब दोनों साथ में काफी अच्छे लग रहे है”
पल्लवी ने सामने देखा तो पार्थ और साहिबा किसी बात पर हंस रहे थे। पल्लवी उन्हें देखते रही तो अश्विनी ने कहा,”वैसे साहिबा तुम्हारी अच्छी दोस्त है , तुम्हारी भाभी बनकर तुम्हारे घर आएगी तो कितना अच्छा रहेगा”
“ऐसा कुछ भी नहीं है अश्विनी , तुमने मीठा नहीं लिया”,कहते हुए पल्लवी ने अश्विनी की प्लेट में मिठाई रख दी।

खाना खाने के बाद साहिबा अपने फ़ोन पर किसी से बात करते हुए साइड में लॉन में चली आयी। वह वहा घूमते हुए किसी से बात कर रही थी और कुछ ही दूर अपने दोस्तों के साथ खड़ा पार्थ उसे देख रहा था। खाना खाने के बाद पल्लवी रुबीना और प्रिया के पास आयी और कहा,”साहिबा कहा है ?”
“यही कही होगी क्या हुआ ?”,प्रिया ने कहा
“कुछ नहीं”,पल्लवी ने कहा
“यार पल्लवी तेरा भाई ना बहुत अच्छा है , आज के ज़माने में इतना सिम्पल लड़का मैंने तो नहीं देखा ,, साहिबा भी कह रही थी”,रुबीना ने कहा
“क्या कह रही थी साहिबा ?”,पल्लवी ने पूछा उसके चेहरे के बदले हुए भावो को सिर्फ प्रिया ने देखा था
“यही की पार्थ अच्छा लड़का है , मेहनती है , सबसे अच्छे से पेश आता है,,,,,,,,,,,,,,,,,आई थिंक साहिबा को पार्थ पसंद है”,रुबीना ने जैसे ही कहा पल्लवी की नजर सामने साहिबा पर पड़ी जिसके साथ पार्थ खड़ा था और उस से कुछ बात कर रहा था। पल्लवी को ये बर्दास्त नहीं हुआ वह वहा से सीधा साहिबा के पास आयी उसका हाथ पकड़ा और बिना कुछ कहे उसे अपने साथ लेकर चली गयी। अंदर एक कमरे में लाकर पल्लवी ने उसे अपने सामने करते हुए कहा,”क्या चल रहा है ये सब ?”
“क्या हुआ पल्लवी ?”,साहिबा ने हैरानी से कहा। रुबीना और प्रिया भी वहा चली आयी। पल्लवी को गुस्से में देखकर दोनों ही एक दूसरे को हैरानी से देखने लगी।
“क्या हुआ ? साहिबा कर क्या रही हो तुम ? पार्थ तुमसे दो साल छोटा है , जिस तरफ से वो तुम्हे देख रहा है , तुमसे बात कर रहा है ये सब सही नहीं है”,पल्लवी ने परेशान होकर कहा
“रिलेक्स पल्लवी ,, तुम जैसा सोच रही हो वैसा कुछ भी नहीं है,,,,,,,,,,,,पार्थ सिर्फ,,,,,,,,,,,,,,,!!”,साहिबा ने जैसे ही कहा पल्लवी ने उसकी बात बीच में काटते हुए कहा,”साहिबा मम्मी पापा तुम्हे अपनी बेटी जैसा मानते है , और पार्थ के लिए भी तुम वैसी ही हो।”,पल्लवी ने कहा
“पल्लवी ये कैसी बाते कर रही है तू ? पार्थ हम सबके साथ हंसी मजाक कर रहा था ,, तू जो समझ रही है वैसा कुछ भी नहीं है”,रुबीना ने कहा
“और अगर पार्थ और साहिबा एक दूसरे को पसंद करते भी है तो क्या दिक्कत है ?”,इस बार प्रिया ने कहा
“गाईज स्टॉप इट , एंड पल्लवी वो मुझे पसंद है पर तू इसे गलत वे में ले रही है , जेनुअन वो मुझे पसंद है जैसे तू , प्रिया , रुबीना बस वैसे ही”,साहिबा ने कहा तो पल्लवी ने उसके करीब आकर कहा,”तुम बहक रही हो साहिबा”
पल्लवी के मुंह से ये बात सुनकर साहिबा का दिल एक झटके में टूट गया। उसकी आँखों में आंसू भर आये लेकिन उसने उन्हें आँखों में ही रोक लिए और मुस्कुरा दी। पल्लवी ने कुछ नहीं कहा और वहा से चली गयी।

Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7 Tere Ishq Me – 7

क्रमश – Tere Ishq Me – 8

Read More – “तेरे इश्क़ में” – 6

Follow Me On – facebook | youtube | instagram

Read More Story Here – waveofshama

संजना किरोड़ीवाल

Tere Ishq Me
Tere Ishq Me
Tere Ishq Me
Tere Ishq Me

4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!