Sanjana Kirodiwal

Story With Sanjana
Telegram Group Join Now

कितनी मोहब्बत है – 45

Kitni Mohabbat Hai – 45

”कितनी मोहब्बत है – 45”

By – Sanjana kirodiwal

Kitni Mohabbat Hai – 45

मीरा अक्षत को लेकर कोरीडोर की और बढ़ गयी लेकिन अक्षत नशे में था तो उसे इस वक्त कोई होश नहीं था बल्कि शराब सर चढ़कर बोल रही थी ! वह रिसोर्ट के रूम के सामने आया और कहा,”मीरा तुम मेरी बंदी हो यार फिर उस लक्ष्य के साथ डांस क्यों किया ? उस लक्ष्य का तो मैं मुंह तोड़ दूंगा !”
कहते हुए अक्षत लड़खड़ा कर निचे गिर गया , उस से ठीक से खड़ा रहा भी नहीं जा रहा था मीरा ने उसे सम्हालते हुए कहा,”आप जैसा समझ रहे है वैसा कुछ भी नहीं है , लक्ष्य भाई अच्छे इंसान है वो बस हमसे हमारी पढाई और करियर को लेकर बाते कर रहे थे !”
“लक्ष्य अच्छा है , जीजू अच्छे है , सब कुछ अच्छा है तुम्हारे लिए बस मैं ही नहीं”,अक्षत ने मसुमियत से कहा !
“किसने कहा आप हमे अच्छे नहीं लगते ? आप हमे बहुत अच्छे लगते है !”,मीरा ने प्यार से कहा तो अक्षत उसकी आँखों में देखते हुए कहने लगा,”सच !”
“हां सच में !”,मीरा ने कहा
“तो फिर तुमने उस लक्ष्य के साथ डांस क्यों किया ? मुझे कितना बुरा लग रहा था !”,अक्षत फिर नाराज होकर ;लड़खड़ाते हुए बोला
“अब हम आपको कैसे समझाए ?”,मीरा ने कहा
अक्षत दिवार का सहारा लेकर उठा और गाने लगा,”तुम्हे कोई और देखे तो जलता है दिल , बड़ी मुस्किलो से फिर सम्हलता है दिल ,,, ओह्ह्ह्ह !
वह कुछ आगे बोलता इस से पहले ही मीरा ने उसे सम्हाला और कहा,”आप पहले रूम में चलिए फिर गा लीजियेगा गाने किसी ने आपको इस हालत में देखा तो बहुत प्रॉब्लम हो जाएगी !”
मीरा अक्षत को लेकर रूम में आयी और उसे बेड पर बैठाते हुए कहा,”आप बैठो हम दरवाजा बंद करके आते है !”
अक्षत ने मीरा का हाथ पकड़कर उसे रोकते हुए कहा,”दरवाजा बंद क्यों ? तुम भी मोना की तरह मेरे साथ जबरदस्ती करने वाली हो”
मोना का नाम सुनकर मीरा हैरानी से अक्षत की और पलटी और कहा,”जबरदस्ती ? क्या किया मोना ने ?”
“मोना अच्छी लड़की नहीं है मीरा , उसने मुझे फसाया है !”,अक्षत ने कहा
मीरा आकर अक्षत के सामने बैठ गयी और अक्षत के हाथो को अपने हाथो में लेकर कहा,”हमे बताईये अक्षत जी क्या किया मोना ने ? कैसे फसाया है उनसे आपको ?”
अक्षत मीरा की तरफ देखने लगा उसे आधी बाते याद थी आधी नहीं तो उसने सोचते हुए कहा,”मैं कभी शराब नहीं पिता था मीरा , मुझे ड्रिंकिंग बिल्कुल पसंद नहीं है लेकिन कॉलेज की एक पार्टी में किसी ने मेरे जूस में शराब मिलाकर मुझे पीला दी ! तब मोना मेरी अच्छी दोस्त थी जैसे आज तुमने मुझे सम्हाला वैसे वो भी मुझे रूम में लेकर आयी थी !” कहते कहते अक्षत रूक गया तो मीरा ने कहा,”उसके बाद ?”
“मुझे कुछ याद नहीं आ रहा , बहुत घुटन महसूस हो रही थी उस रूम में मुझे उसके साथ , मेरा सर भी फटा जा रहा था”,अक्षत ने आगे बताने की कोशिश करते हुए कहा
“याद करने की कोशिश कीजिये , क्या हुआ था उस रात ?”,मीरा जानना चाहती थी आखिर अक्षत और मोना के बिच के रिश्ते का सच क्या है ?
अक्षत ने सोचते हुए कहा,”वो मुझे अपने साथ लेकर आयी , मैं होश में नहीं था उस वक्त उसने मुझे बेड पर लिटाया , मेरा सर दर्द से फट रहा था , वो मेरे पास बैठकर मेरे गालो और मेरी गर्दन को छू रही थी !
बहुत गन्दा लग रहा था मीरा , मैंने उसे मना भी किया लेकिन वो मेरी बात नहीं सुन रही थी ! उसने मेरी शर्ट उतार दी , मैंने कुछ भी नहीं किया मीरा मैं सच कह रहा हु ! उस रात मेरे और मोना के बिच कुछ नहीं हुआ था ,, आई ऍम अ बॉय एंड आई फील दिस की उस रात कुछ नहीं हुआ था ! मुझे नहीं पता मोना के पास वो फोटो कहा से आये !!”
अक्षत की बातो में मीरा को सच्चाई नजर आ रही थी , जिस लड़के ने आज तक मीरा को किसी गलत इरादे से नहीं छुआ था वो किसी लड़की के साथ ऐसा शायद ही करेगा ! मीरा अक्षत की और देखती रही तो अक्षत ने कहा,”तुम्हे मुझपर भरोसा है ना मीरा ?”
मीरा ने अक्षत के हाथो को मजबूती से पकड़ा और कहा,”हमे आप पर भरोसा है आपने कुछ नहीं किया , अगर मोना ने आपको फसाया है तो उसका ये गंदा सच हम सबके सामने जरूर लाएंगे !” मीरा की बात सुनकर अक्षत ने मीरा के चेहरे को अपने दोनों हाथो में लेकर उसकी और बढ़ते हुए कहा,”तुम बहुत अच्छी हो मीरा !” अक्षत के करीब आने से बेचारी मीरा की बेचैनी बढ़ने लगी अक्षत जैसे ही अपने होंठ मीरा के होंठो के पास लेकर आया खुद से ही बडबडाते हुए पीछे हट गया,”नहीं नहीं नहीं शादी से पहले मीरा को किस नहीं करना है , ना अक्षत ना होश में आ वो मीरा है , मीरा , तेरी बंदी उसकी फीलिंग्स हर्ट नहीं करनी है !”
मीरा ने देखा ये सब कहते हुए अक्षत बहुत क्यूट लग रहा था वो नशे में था फिर भी अपनी हद समझ रहा था इस से खूबसूरत बात और क्या हो सकती थी ! अब मीरा को पूरा पूरा यकीं हो चुका था की मोना और अक्षत के बिच कोई रिश्ता नहीं था ! मीरा उठी और अक्षत को लिटाते हुए कहा,”अक्षत जी आप आराम कीजिये !”
“जबसे तुम मेरी जिंदगी में आयी हो , तबसे आराम ही है मीरा , तुम कितना ख्याल रखती हो मेरा , मेरा गुस्सा मेरा ईगो सब सहती हो ! तुम कितनी अच्छी हो यार”,अक्षत ने कहा मीरा मुस्कुरायी और अक्षत के सर के निचे तकिया लगाते हुए कहा,”हम आपका गुस्सा इसलिए बर्दास्त करते है क्योकि आपका गुस्सा कभी गलत नहीं होता है , हां आप थोड़े अकड़ू हो लेकिन दिल के बहुत अच्छे हो ! बाकि सबसे थोड़े अलग हो क्योकि आप हर चीज को बहुत गहराई से सोचते हो और आपकी यही बाते आपको सबसे अलग बनाती है !”
“तुम मुझे , मुझसे भी ज्यादा जानती हो यार , तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिली ? मिलती तो मैं उस मोना के चक्कर में नहीं फंसता ना !”,अक्षत ने कहा
“वो कुछ नहीं कर सकती , हम पर भरोसा रखिये उसका सारा सच एक दिन दिन सबके सामने आ जाएगा !”,मीरा ने अक्षत का सर सहलाते हुए कहा और अक्षत के पैरो के पास आयी उसने अक्षत के जूते निकाले , जुराबे निकाली और पैरो को कम्बल से ढक दिया ! अक्षत के इस हाल पर उसे दुःख भी हो रहा था और बुरा भी लग रहा था की उसकी वजह से अक्षत ने ड्रिंक कर लिया ! लेकिन मीरा आज बहुत खुश थी अक्षत के दिल में उसके लिए प्यार है जानकर उसके चेहरे से स्माइल नहीं हट रही थी !
मीरा ने देखा अक्षत सो चुका है तो उसने कमरे में पड़ा कम्बल उसे ओढ़ाया और कमरे की लाइट बंद करके बाहर आ गयी ! कॉरिडोर में सामने से आता अर्जुन उसे मिल गया ! मीरा ने हल्के से कमरे का दरवाजा बंद किया अर्जुन मीरा के पास आया और कहा,”सब ठीक है ना मीरा ?”
मीरा ने कुछ नहीं कहा और आगे बढ़कर अर्जुन के गले लग गयी ! मीरा को खुश देखकर अर्जुन ने कहा,”क्या बात है मीरा ? तुम बहुत खुश नजर आ रही हो !”
मीरा अर्जुन से दूर हुई और कहा,”अर्जुन जी अक्षत जी हमसे प्यार करते है !”
“लो ये तुम्हे आज पता चला , मुझे तो पहले दिन से पता था की वो नालायक तुमसे प्यार करता है !”,अर्जुन ने कहा
“फिर आपने हमे बताया क्यों नहीं ?”,मीरा को जानकर हैरानी हुई
“बताता तो तुम्हारे चेहरे पर ये ख़ुशी देखने को कैसे मिलती ? आशु तुमसे बहुत प्यार करता है मीरा , और तुम उसके लिए बेस्ट हो”,अर्जुन ने कहा
“लेकिन उन्होंने भी हमसे कभी नहीं कहा ये सब , आज कहा भी तो नशे में !”,मीरा ने कहा
“वो होश में भी कहेगा , और मुझे नहीं लगता तुम दोनों को एक दूसरे को आई लव यू कहने की जरूरत भी है , क्योकि सबको पता है तुम दोनों एक दूसरे को कितना पसंद करते हो !”,अर्जुन ने कहा
“क्या सबको पता है ?”,मीरा ने हैरानी से कहा
“पापा को नहीं पता बाकि सबको पता है !”,अर्जुन ने मुस्कुराते हुए कहा


मीरा ने शरमा के पलके झुका ली और कहने लगी,”हमने कभी सोचा नहीं था हमे उनसे प्यार हो जाएगा , लेकिन जब उनके साथ होते है तो सब अच्छा लगने लगता है !”
“यही तो प्यार है मीरा ! तुम्हारे आने के बाद आशु में जो बदलाव आये है वो आज से पहले किसी ने नहीं देखे थे , पहली बार उसे किसी लड़की के लिए अपनों से झगड़ते देखा है , परवाह करते देखा है , उसकी आँखों में प्यार देखा है ! उस से ज्यादा प्यार इस दुनिया में तुम्हे कोई नहीं कर सकता !”,अर्जुन ने कहा
“हम बहुत लकी है अर्जुन जी , जो हमे आप सब मिले !”,मीरा ने थोड़ा भावुक होकर कहा
“नहीं मीरा अक्षत लकी है जिसे तुम मिली हो , उसका गुस्सा उसकी ईगो देखते हुए मुझे हमेशा डर था की वो कभी किसी से प्यार कर पायेगा या नहीं , या उसे समझने वाली लड़की उसकी जिंदगी में आएगी ! पर तुमसे मिलने के बाद ये यकीन हो गया की उसे तुम सम्हाल सकती हो ,, वो दिल से बुरा नहीं है बस कभी कभी उसकी ईगो बिच में आ जाती है ,, वरना बहुत प्यारा इंसान है वो !”,अर्जुन ने कहा
“थैंक्यू अर्जुन जी !”,मीरा ने कहा
“अर्जुन जी नहीं अब भैया बुलाना शुरू कर दो आफ्टर आल व्यास फॅमिली की होने वाली छोटी बहु है आप , मिस मीरा सिंह राजपूत !”,अर्जुन ने कहा
मीरा एक बार फिर शरमा गयी तो अर्जुन ने कहा,”चलो चलकर सेलिब्रेट करते है , आज तो वैसे भी डबल सेलेब्रेशन बनता है “
अर्जुन और मीरा बाहर चले आये , जीजू।, तनु , लक्ष्य निधि सब वहा मौजूद थे ! अर्जुन ने केक मंगवाया और उसने और मीरा ने मिलकर केक काटा ! अर्जुन ने मीरा की फीलिंग्स सबको बतानी चाही तो मीरा ने उसे रोक दिया , वह नहीं चाहती थी अक्षत से पहले किसी और को उसके दिल की बात पता चला चले !
सबने पार्टी खूब इंजॉय की , देर रात सभी अपने अपने घर निकल गए ! अक्षत वहा अकेला था इसलिए जीजू को रुकना पड़ा क्योकि उन्ही ने रायता फैलाया तो सजा भी उन्हें ही मिलनी थी ! वह अक्षत के साथ रिसोर्ट के कमरे में रुक गए सुबह जब अक्षत उठा तो खुद को अनजान कमरे में पाकर थोड़ा हैरान हो गया , उस से भी ज्यादा हैरानी उसे तब हुयी जब उसने अपने बगल में जीजू को सोते देखा ! अक्षत ने जीजू को उठाया और कहा,”आप यहाँ क्या कर रहे हो ?”
“गुड़ मॉर्निंग !”,जीजू ने उठते हुए कहा
“अरे काहे का गुड़ मॉर्निंग मुझे ये बताओ , आप यहाँ क्या कर रहे हो ? वो मेरे साथ !”,अक्षत ने झुंझलाकर कहा
“सो रहा हु !”,जीजू ने बिना किसी भाव के कहा !
“बाकि सब कहा है ?”,अक्षत ने कहा
“बाकि सब तो घर है !”,जीजू ने कहा
“तो फिर हम लोग यहाँ क्या कर रहे हो ?”,अक्षत ने कहा
“वाह वाह मेरे साले साहब , कल रात जो रायता आपने फैलाया है न उसी का फल है ये !”,जीजू ने कहा
“कल रात क्या हुआ ?”,अक्षत ने हैरानी से कहा
“लो अब तुम्हे ये भी याद नहीं , अरे कल रात शराब पीकर जो उत्पात मचाया है तुमने पूछो मत , और उसकी सजा मिली मुझे तुम्हारे साथ यहाँ रुकना पड़ा !”,जीजू ने कहा
“मैंने और शराब कब ?”,अक्षत ने कहा
“लगता है तुम्हारी यादास्त चली गयी है !”,जीजू ने ताना मारते हुए कहा अक्षत ने अपना सर पकड़ लिया तो जीजू उसके थोड़ा करीब आये और कहा,”सर दुःख रहा है क्या ?”
“नहीं , और आप ना दूर रहो मुझसे , आपके इरादे कुछ ठीक नहीं लग रहे मुझे !”,अक्षत ने खुद को कम्बल से ढकते हुए कहा !
“तू मुझपे शक कर रहा है , अपने गर्लफ्रेंड जैसे जीजू पर शक कर रहा है !”,जीजू ने नौटंकी करते हुए कहा !
अक्षत उठा उसने अपने जुराबे और जूते पहनते हुए कहा,”जीजू चलो ना यार घर चलते है , अभी तो फेस भी करना है !”
“अरे डोंट वरी कुछ नहीं हुआ , हा पिने के बाद तुम थोड़ा सा फ़ैल गए थे लेकिन मीरा ने सम्हाल लिया था !
वरना तुम तो पूरी पार्टी का सत्यानाश करने वाले थे”
“मीरा मुझे यहाँ लेकर आयी थी ?”,अक्षत ने हैरानी से कहा
“जी हां साले साहब शी इज सो सपोर्टिंग गर्ल , उसका दिल मत दुखाना कभी !”,जीजू ने बड़े प्यार से कहा
“नशे में मैंने कुछ उल्टा सीधा तो नहीं कह उसे !”,अक्षत ने कहा
“वो तो घर जाकर ही पता चलेगा ! चलो !”,जीजू ने उठते हुए कहा और अक्षत के साथ कमरे से बाहर निकल आये ! अर्जुन रिसेप्शन पर उनके लिए गाड़ी की चाबी छोड़कर गया था ! जीजू ने चाबी ली गाड़ी स्टार्ट की और दोनों घर के लिए निकल गए ! घर पहुंचे तो देखा सब बिजी थे अक्षत को मीरा कही नजर नहीं आयी , वह सीधा अपने कमरे में चला आया , तैयार होकर निचे आया तो निचे हॉल में शादी की रस्मे चल रही थी ! अर्जुन की बारात शाम 4 बजे रवाना होनी थी ! उस से पहले सभी हंसी मजाक के साथ रस्मे पूरी करने में लगे थे ! अक्षत जान बूझकर मीरा के सामने नहीं जा रहा था उसे गिल्टी
महसूस हो रहा था क्योकि पहली बार वह नशे में मीरा के सामने था ! मीरा भी निधि के साथ कामो में बिजी थी इसलिए अक्षत की और उसका ध्यान नहीं गया ! शाम को सभी बारात में जाने के लिए तैयार थे ! मीरा और निधि ने लहंगा पहना था , अक्षत ने पेंट शर्ट और अपना सफेद वाला ब्लेजर पहना ! वह भी निचे आया ! सभी तैयार थे अर्जुन शेरवानी पहने घोड़ी पर बैठा बहुत प्यारा लग रहा था ! काव्या मीरा का हाथ पकडे पकडे उसके साथ थी मीरा ने देखा अक्षत कही दिखाई नहीं दे रहा है उसने काव्या का हाथ निधि को पकड़ाया और अंदर चली आयी ! अंदर से सभी मेहमान बाहर आ रहे थे ! मीरा ने देखा अक्षत किचन के पास वाले वाशबेसिन की तरफ है मीरा उसकी और बढ़ी मीरा को अपनी और आते देखकर अक्षत जाने लगा तो मीरा ने उसका हाथ पकड़कर उसे रोक लिया ! पहली बार था जब मीरा ने उसका हाथ पकड़ा था वरना ऐसा हमेशा अक्षत ही किया करता था ! मीरा उसे अपने सामने लायी और कहा,”आप हमसे बचे बचे क्यों घूम रहे है ?”
“मैं मैं कहा , वो तो बाहर ही जा रहा था मैं”,अक्षत ने मीरा से नजरे चुराते हुए कहा
“हमारी तरफ देखिये !”,मीरा ने सहजता से कहा
अक्षत ने मीरा की तरफ देखा तो मीरा ने कहा,”कल जो कुछ हुआ उसे लेकर परेशान है आप”
“ह्म्म्मम्म !”,अक्षत ने मीरा की तरह कहा
“वैसे हमे पता नहीं था”,मीरा ने शरारत से कहा
“क्या ?”,अक्षत ने कहा
मीरा थोड़ा सा अक्षत के करीब आयी और धीरे से उसके कान में कहा,”की आप दुनिया के सबसे रोमांटिक इंसान है !” इतना कहकर मीरा वहा से चली गयी पर जाते जाते अक्षत के होंठो पर प्यारी सी मुस्कराहट छोड़ गयी ! शरम से उसके गाल लाल हो रहे थे !

क्रमश kitni-mohabbat-hai-46

Previous Part – kitni-mohabbat-hai-44

Follow Me On – facebook

Follow Me On – instagram

संजना किरोड़ीवाल !

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!