Stop Ruin Writers

Stop Ruin Writers

मैं “संजना किरोड़ीवाल” एक छोटी सी फ्रीलॅन्स राइटर जो ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स पर अपनी कहनियाँ लिखती है। आज मैं यहाँ एक बहुत ही गंभीर मुद्दे पर लिखने जा रही हूँ इसलिए इसे आखरी तक पढ़ने की कोशिश कीजियेगा और इसे समझने की कोशिश कीजियेगा।
साल 2018 से मैंने एक लेखिका के रूप में प्रतिलिपि पर लिखना शुरू किया था। उस वक्त मुझे कोई नहीं जानता था। धीरे धीरे मैंने ग्रो करना शुरू किया 2019 तक कुछ लोग मुझे जानने लगे थे और मेरी कहानियो को भी काफी अच्छे रीडर्स मिल रहे थे। 2019 में “पॉकेट FM” से “राहुल वाघ” नाम के लड़के का मुझे मैसेज मिला उसने बताया की वह मेरी कहानियो को अपने “पॉकेट FM” पर चलाना चाहता है। उस वक्त मुझे इन सब का कोई खास ज्ञान नहीं था मैं बस इस बात से खुश थी की मेरी कहानियाँ FM पर आएगी। मैंने उन्हें अपनी एक कहानी “पाकीजा – एक नापाक जिंदगी” सुनाने को दी जिसके लिए मैंने उनसे कोई चार्ज भी नहीं लिया था। प्रतिलिपि पर मेरी कहानियाँ फ्री चलती थी और मैं नहीं चाहती थी मेरे रीडर्स से मेरी कहानियो के पैसे चार्ज किये जाये इसलिए “पॉकेट FM” पर अपनी पहली कहानी मैंने बिना किसी चार्ज के दी। उन्होंने कहानी का ऑडियो बनाया और वो चल गया ये देखकर “राहुल वाघ ने एक बार फिर मुझे फोन किया और कहा की वो मेरी सभी कहानियो के ऑडियो बनाना चाहता है। उस वक्त मुझे कोई ऐतराज नहीं था क्योकि वो सभी कहानियाँ मेरे प्रतिलिपि प्रोफाइल पर रायटिंग में आ चुकी थी। इन्होने मेरी 6 कहानियो को सेलेक्ट किया जिन पर 2019 में सबसे ज्यादा व्यूज थे। मैंने इनसे कहा की मैं इन्हे कहानी किस बिहाल्फ पर दू इसमें मेरा क्या फायदा है ?
राहुल ने कहा इसके लिए आपको रॉयल्टी दी जाएगी। साथ ही उन्होंने और भी कई बड़ी बड़ी बाते की जिनमे उन्होंने ये साफ साफ कहा की मेरी कहानियो पर उनका सिर्फ ऑडियो का अधिकार रहेगा। 6 कहानियों को लेकर उन्होंने 8 पेज का इंग्लिश में लीगल कॉन्ट्रैक्ट बनाया जिसमे उन्होंने वो एक भी बात मेंशन ही नहीं की जो उनकी मुझसे फोन पर डिस्कस हुई थी। उन्होंने कॉन्ट्रैक्ट बिल्कुल विपरीत बनवाया। लीगल लेंग्वेज में होने के कारण मुझे वो कॉन्ट्रैक्ट ठीक से समझ नहीं आ रहा था उसमे मैंने “राहुल वाघ” की मदद ली और ये मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी गलती थी शायद,,,,,,,,,,,,,,,,,,,उन्होंने जैसा कहा मैंने उन पर विश्वास करके उस कॉन्ट्रैक्ट पर साइन कर दिए बिना ये जाने की उस कॉन्ट्रक्ट में लिखी अधिकतर बातें मेरे खिलाफ है। ये “पॉकेट FM” की सोची समझी चाल थी या फिर वो सब राइटर्स के साथ ही ऐसा करते थे ये तो वही जानते है लेकिन मैं उनके जाल में फंस चुकी थी।
दो महीने वो मेरे साथ बहुत अच्छे से पेश आये क्योकि उन्हें अभी मेरी बाकि कहानियो को भी लेना था और उन्होंने एक और परमिशन कॉन्ट्रैक्ट भेजा जिसमे 6 कहानियाँ और थी और इन्ही कहानियों में शामिल थी “कितनी मोहब्बत है” उन पर भरोसा करके मैं उन्हें अपनी 12 कहानियों के ऑडियो की परमिशन उन्हें दे चुकी थी जिसके लिए उन्होंने मुझे रॉयलिटी में 24,000 रूपये देने का वादा किया। आधा अमाउंट तुरंत और आधा अमाउंट एक साल बाद देना तय हुआ।
बस यही कीमत थी मेरी कहानियों की और उस वक्त मैंने ज्यादा एफर्ट भी नहीं दिखाया था क्योकि उस वक्त मुझे सिर्फ अपनी कहानियो को लोगो तक पहुँचाना था। मेरी कहानियाँ इनके FM पर चलने लगी थी। अच्छे व्यूज मिलने लगे थे और शायद यही इनका लालच जागने लगा था। इन्हे लगा एक संजना की कहानियो से जब इतना रेटिंग मिल रहा है तो प्रतिलिपि के बाकि राइटर्स से कितना रेटिंग मिलेगा और इन्होने वहा के राइटर्स को FM पर आने के लिए कहा । प्रतिलिपि के राइटर्स मुझसे थोड़े ज्यादा समझदार है उन्होंने इनकी बात नहीं सुनी तो इन्होने एक बहुत गन्दा गेम खेलना शुरू किया। “पॉकेट FM” के “राहुल वाघ” जो खुद को कंटेंट मैनेजर बताते है उन्होंने प्रतिलिपि के राइटर्स को ये कहना शुरू कर दिया “संजना ने हमे अपनी कहानियाँ दी है आप लोग भी उनके भरोसे पर अपनी कहानियाँ दे सकते हो”
कुछ राइटर्स ने इनकी बात मान भी ली और इन्हे कहनियाँ देने लगे तो कुछ ने आकर मुझसे बात की मैंने जब इन्हे कहा की कंटेंट के लिए आप लोग मेरा नाम क्यों इस्तेमाल कर रहे है तो इन्होने बहाने बनाने शुरू कर दिए। मैं अपनी लाइफ में बिजी थी इसलिए मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया था। जब इन्होने मुझे रॉयलिटी का आधा हिस्सा दिया तब ये कहा की अभी हमारा FM नया है इसलिए हम लोग सभी राइटर्स को रॉयलिटी नहीं दे सकते , इसलिए आपसे कोई पूछे तो आप कह दीजियेगा की आपको कोई रॉयलिटी नहीं मिली है।
मैंने इनकी बात मान ली लेकिन वही इन लोगो ने जाकर दूसरे राइटर्स से ये कहकर कहानी लेना शुरू कर दिया की “हमने संजना को उनकी कहानियों के लिए 25 हजार दिए है”

इनका गेम मुझे समझ नहीं आ रहा था की ये मुझसे क्या चाहते थे ? एक तरफ इन्होने कहा मैं लोगो को ना बताऊ दूसरी तरफ ये खुद लोगो को बता रहे थे। ये बात 2020 में मेरे सामने आयी जब प्रतिलिपि की किसी राइटर ने मुझसे रॉयलिटी के बारे में पूछा और मैंने उन्हें मना कर दिया क्योकि मैं पॉकेट FM के साथ कॉन्ट्रैक्ट में थी लेकिन जब उसी राइटर ने बताया की पॉकेट FM ने खुद उन्हें मेरी रॉयलिटी के बारे में बताया है तब मुझे धक्का लगा।
जिन लोगो पर अब तक मैं भरोसा करते आ रही थी मेरी पीठ पीछे वही लोग मेरे साथ विश्वासघात कर रहे थे। इनकी इस हरकत की वजह से उस राइटर के सामने मेरी इमेज ख़राब हुई तब मैंने जाकर “राहुल वाघ” को मैसेज किये की वो लोग कंटेंट लेने के लिए मेरा नाम क्यों इस्तेमाल कर रहे है ? उनके जवाब से मैं बिल्कुल संतुष्ट नहीं थी और मैंने फैसला किया की मैं भविष्य में उनके साथ काम नहीं करुँगी। उन 12 कहानियों के अलावा मैं उन्हें अपनी किसी और कहानी की परमिशन नहीं दूंगी।
जैसे ही मैंने ये कहा उन्होंने मुझे कॉल मैसेज करना शुरू कर दिया , मुझे कन्विंस करना शुरू कर दिया , वो बार बार मुझे प्रेशर करने लगे की मुझे 5 साल तक उन्ही के साथ काम करना होगा। 6 महीने उन्होंने लगातार मुझे परेशान किया , मेन्टल टॉर्चर किया ये बोल बोल कर की कॉन्ट्रेक्ट के मुताबिक 5 साल तक आप किसी और के साथ काम नहीं कर सकते है !! उस वक्त मैं थोड़ा डर भी गयी थी लेकिन दोस्तों ने मुझे बहुत सपोर्ट किया और कहा की 5 साल कोई बड़ा समय नहीं है निकल जाएगा।
मैंने “पॉकेट FM” को साफ साफ मना कर दिया की मैं उनके लिए काम नहीं करुँगी। इसी बीच “कितनी मोहब्बत है” कहानी थोड़ी फेमस हो गयी और उसी के साथ प्रतिलिपि पर मेरे साथ एक मेटर हुआ इसी कहानी को लेकर और सामने वाली राइटर ने इस कहानी को 1 महीने के लिए हटवा दिया। यहाँ मौका मिला पॉकेट FM को। जिस कहानी को मैंने उन्हें सिर्फ इसलिए दिया की वो बिना किसी पैसे के लोगो तक पहुंचाए उस कहानी पर उन्होंने पैड ऑप्शन लगा दिया और लोगो से पैसे ऐठने शुरू दिए। जब किसी कहानी को कॉन्ट्रोवर्सी के तहत हटाया जाता है तो लोगो में उसे पढ़ने की इच्छा और ज्यादा बढ़ जाती है लोगो ने पैड ऑप्शन लेना शुरू कर दिया। मेरी 12 कहानियो में से “कितनी मोहब्बत है” उनके FM पर आगे बढ़ी जो की मिलियन व्यूज तक पहुँच गयी और इन्हे अच्छा खासा रेटिंग मिलने लगा। इनका लालच फिर बढ़ा और इन्होने एक बार फिर मुझे फोन/मेसेज करने शुरू कर दिए। इस बार तरिका नया था ये मुझे हजारो / लाखो का ऑफर दे रहे थे और चाहते थे की मैं “कितनी मोहब्बत है” सीजन 2 लिखू और इन्हे दू ताकि ये अपने पॉकेट FM पर चलाये।
बात यहाँ पैसो की नहीं थी बात यहाँ सेल्फ रिस्पेक्ट की थी जो की मेरे लिए सबसे ऊपर है। मैंने इनके लाखो के ऑफर को ठुकरा दिया था और तब “राहुल वाघ” ने मुझसे बड़े ही घमंड के साथ ये कहा था “की तुम्हे क्या लगता है पॉकेट FM तुम्हारी वजह से चलता है”
ये बात सुनने के बाद तो उन्हें कहानी देने का सवाल ही पैदा नहीं होता। जब “राहुल वाघ” मुझे कन्विंस नहीं कर पाए तो ये काम उन्होंने किसी और को दिया जिनका नाम मुझे अब याद नहीं है लेकिन उन्होंने कहा की “आप नहीं लिखेंगी तो हम किसी और लिखवा लेंगे”
मतलब इतनी हिम्मत हो चुकी थी की मेरी ही कहानी ये मेरी परमिशन के बिना किसी और से लिखवाने की बात कर रहे थे,,,,,,,,,,,शायद मुझे ज्यादा ही बेवकूफ समझ लिया था इन्होने। मैंने इन्हे साफ मना कर दिया था बिना मेरी परमिशन के ये मेरी किसी भी कहानी का सीक्वल नहीं लिखवा सकते ना ही सूना सकते है।
इसके बाद इन्होने अपनी किसी फीमेल मैनेजर से मेरी बात करवाई। उन्होंने भी मुझे “पॉकेट FM” के साथ काम करने के लिए बहुत कन्विंस किया लेकिन मेरा मन इनके टॉर्चर से उस वक्त बहुत खराब हो चूका था और मैंने कहा की मैं फ़िलहाल इनके साथ काम करना नहीं चाहती।

कुछ दिन गुजरे और इन्होने मेरी उन 12 कहानियो में मेरे नाम के आगे से मेरा सरनेम हटा दिया। सिर्फ “संजना” नाम से उन कहानियों को सुनाया जा रहा था ताकि भविष्य में ये “संजना” नाम से कोई भी कहानी निकाले और आप लोगो को लगे वो “संजना किरोड़ीवाल” की कहानी है और आप लोग उसे सुनने पहुँच जाये और इनकी रेटिंग और इनका नाम बना रहे। जब मैंने उनसे इस बारे में पूछा तो उनका जवाब सुनकर शायद आपको भी बुरा लगे
उन्होंने कहा की “App में चेंजिंग की वजह से ऐसा हुआ है , तुम्हारे हिसाब से तो पॉकेट FM घटिया App है तुम्हे क्या फर्क पड़ता है सरनेम हटने से”
मतलब एप्प में कुछ बदलाव होने से सिर्फ संजना का सरनेम क्यों हटा ?
उन्होंने आगे मुझसे बात ही नहीं की और मेरा नंबर ब्लॉक कर दिया
मैंने “राहुल वाघ” से इस बारे में पूछा तो उनका जवाब था “पॉकेट FM पर लोग कह रहे थे की आप उन्हें जवाब नहीं देती है जबकि दूसरे राइटर्स इस मामले में काफी एक्टिव है इसलिए एक बुरे नाम को नजरअंदाज करने के लिए हमने आपका सरनेम हटा दिया”
सीरियसली ब्रो !!
पहली बात तो ये की किसी भी रीडर , फोल्लोवेर को जवाब देना या ना देना मेरी अपनी मर्जी है। मैं नहीं देती किसी को जवाब तो इसमें मारा सरनेम कैसे बुरा हो गया ? और अगर बुरा है तो क्यों आप और “पॉकेट FM” इस नाम के पीछे पड़ा है। दूसरी बात मैंने अब तक पॉकेट FM इंसटाल तक नहीं किया था मुझे क्या पता किसने क्या कमेंट किया है ? मैंने सिर्फ अपना कंटेंट दिया है मैं अपने कंटेंट और अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स के लिए जिम्मेदार है आपके FM के लिए नहीं। बिना मेरी परमिशन के , बिना मुझे बताये आप लोगो ने अपने FM पर मेरी प्रोफाइल बनाई नाम से लेकर मेरी तस्वीर और मेरा स्लोगन जो मैं अपने राइटिंग अकाउंट्स में लिखती हूँ वो तो चुरा लिया आपने और बना दी प्रोफाइल जो की पूरी तरह गैर-क़ानूनी है
इस से जुड़े स्क्रीन शार्ट आप सभी नीचे देख सकते है की कैसे इन्होने अपना उल्लू सीधा किया है —-

इन दो लोगो के जवाब से मुझे उस वक्त बहुत गुस्सा भी आ रहा था और बुरा भी लग रहा था की कैसे कोई इंसान अपने लालच के चलते ऐसे हरकते कर सकता है। जिन राइटर्स ने उन्हें काम दिया , अपनी मेहनत से लिखा कंटेंट दिया वो लोग उन्ही राइटर्स के साथ ऐसे पेश आ रहे थे।
इसके बाद मैंने एक मेल इनके को-फाउंडर “सानिध्य नरेन्” को लिखा। उन्हें जब सब बताया तब उन्होंने अपने ही लोगो की साइड ली लेकिन लीगल नोटिस की बात कहने पर उन्होंने मेरे फेक प्रोफाइल को मुझे सौंपा और मेरे नाम के साथ मेरा सरनेम वापस लगाया। इतना सब होने के बाद भी इन लोगो को मुझसे ये उम्मीद थी की मैं इनके साथ फिर से काम शुरू करुँगी।

जिस तरह से “पॉकेट FM” “कितनी मोहब्बत है” कहानी के पीछे पड़ा हुआ था मुझे लगने लगा की ये इसे लेकर कुछ न कुछ गड़बड़ जरूर करेंगे इसलिए मैंने पब्लिकली अपने सोशल अकाउंट्स पर ये अनाउसमेंट किया की मैं “कितनी मोहब्बत है” सीजन 2 लाऊंगी। उसके बाद ये फिर एक्टिव हो गए क्यों की मैं ये क्लियर कर चुकी थी की सीजन 2 किसी भी हाल में “पॉकेट FM” नहीं आएगा। काफी लोग जो FM पर सुनना पसंद करते है उन्होंने कमेंट्स , मैसेज हर जगह मुझे तंग किया की कहानी पॉकेट FM पर ही आये। मैं अपना काम कर रही थी , मैने सब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म छोड़कर अपनी वेबसाइट पर लिखना शुरू किया और इसी बीच मुझे एक उम्मीद की किरण नजर आयी और मैंने यूट्यूब पर अपनी कहानियो को अपनी आवाज देना शुरू किया .काफी लोगो को पसंद नहीं आया लेकिन वो पसंद के लिए नहीं था वो था खुद को सिक्योर करने के लिए।
जैसे हर जगह मिलता है वैसे यूट्यूब पर भी आप सबका प्यार मिल रहा था। मेरे इस कदम पर शायद “पॉकेट FM” समझ चुका था की मैं उनके जाल में अब और फसने वाली नहीं हूँ लेकिन इतनी जल्दी वो एक लड़की से हार कैसे मान सकते थे ? उन्होंने “कितनी मोहब्बत है” को लेकर एक और ऐड निकाला जो की कहानी से बिल्कुल अलग था जब मैंने “पॉकेट FM” को मेल किया और कहा की वो इस तरह गलत ऐड बनाकर लोगो को भर्मित की कर रहे है तो उन्होंने कहा की ऐड बनाना आसान नहीं होता , मेहनत लगती है , पैसा खर्च होता है और भी कई बातें जिन्हे मैंने नकार दिया। अगर उनको ऐड बनाना ही था तो वो कहानी के राइटर से बात कर सकते थे , लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया उलटा जिस कहानी को उनकी आर.जे. सूना चुकी थी उसी कहानी का उन्होंने गलत ऐड बनाया और वो ऐड पीट गया क्योकि तब तक मेरी 2nd बुक आ चुकी थी। 2nd बुक का नाम मैंने जानबूझकर बदला क्योकि मुझे पता था अगर “कितनी मोहब्बत है” नाम से बुक निकाली तो ये लोग फिर उस पर कूद पड़ेंगे।

मई-जून तक आते आते आप सब ये जान चुके थे की संजना किरोड़ीवाल की कहानिया अब “पॉकेट FM” पर नहीं आएगी और ये बात शायद हजम नहीं कर पा रहे थे। एक तरफ इनकी गिरती रेटिंग और दूसरी तरफ मेरा यूट्यूब पर आगे बढ़ना जब इनसे देखा नहीं गया तो 14 जून 2021 दोपहर 2 बजे इन्होने एक साथ मेरे 20 वीडियो पर क्लेम किया जिस से मुझे 4 कॉपीराइट स्ट्राइक मिल गयी और साथ ही 7 दिन में चैनल बंद होने का मेल भी।
उस दिन मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था की आखिर इन्होने ऐसा क्यों किया ? बिना मुझे कोई नोटिस दिए , बिना मुझे बताये , बिना मुझसे इस बारे में बात किये इन्होने मेरे यूट्यूब चैनल को फेक स्ट्राइक दे दी वो उस कहानी पर जिसके राइट्स इनके पास है नहीं। इन्होने अपना ही अग्रीमेंट शायद ठीक से नहीं पढ़ा और अब तक ये मुझे टॉर्चर कर रहे थे बार बार ये कहकर की 5 साल आप पॉकेट FM के अलावा कही और काम नहीं कर सकती , यूट्यूब चैनल इनका कॉन्ट्रक्ट पढ़ने के बाद ही शुरू किया था मैंने और इस बार मैं गलत नहीं थी।
इन्होने फेक स्ट्राइक दिया वो एक साथ 4 ताकि चैनल ही बंद हो जाये। एक यूट्यूब चैनल के बंद हो जाने से मुझे थोड़ा दुःख होगा क्योकि वहा मैंने 4 महीने मेहनत की है लेकिन एक चैनल बंद होने से मेरी जिंदगी नहीं रुक जाती है। मेरे पास करने के और बहुत कुछ है मुझे लिखना होगा मैं वेबसाइट पर लिखूंगी , अपने सोशल मिडिया अकाउंट्स पर लिखूंगी , वो भी बंद हो गए तो by बुक अपनी कहानियाँ निकालूंगी पर रुकूंगी नही लेकिन आप लोग क्या करेंगे ? ज्यादा से ज्यादा दूसरी “संजना किरोड़ीवाल” ढूंढ लेंगे क्योकि दुसरो की मेहनत से अपनी जेब भरने का मजा “पॉकेट FM” से बेहतर कौन जान सकता है ?

जैसा की “राहुल वाघ” ने कहा था की उनका “पॉकेट FM” मेरी वजह से नहीं चलता ,, अगर ऐसा है तो चलाओ ना अपने दम पर क्यों मेरे पीछे पड़े हो ? अगर आपके पॉकेट FM में दम होता तो आज उस पर सुनाई जाने वाली हर कहानी 50 मिलियन्स पार होती जैसे “कितनी मोहब्बत है” ,, वो सारी मेहनत उस राइटर की होती है जो अपनी मेहनत से कहनियाँ लिखते है और आप जैसे गिद्ध उन्हें नोचना शुरू कर देते है ताकि आपका “पॉकेट FM” आगे बढ़ सके

आप लोग राइटरस को काम देने की बात करते है , जैसे मुझसे कहा था की हम आपको लोकडाउन में काम दे रहे है। काम आपका “पॉकेट FM” नहीं बल्कि काम हम जैसे राइटर्स आपके FM को देते है , जिनकी कहानियो की वजह से आपका FM चलता है। जिसे आपने बिजनेस बना लिया है जिसके चलते ना आप किसी राइटर की भावनाओ की कदर करते है ना उनके काम की। आप क्या हम लोगो को काम देंगे जिस दिन हम जैसे राइटर्स ने आप लोगो के लिए लिखना बंद कर दिया ना काम ढूढ़ने की जरूरत आप सबको पड़ेगी हमे नहीं

जैसा की “पॉकेट FM” कहता है वी आर प्रोफेशनल कौनसा प्रोफेशनल को-फाउंडर एक राइटर से ये कहंता है की “हमारे आर जे आपकी कहानियो के लिए इतनी मेहनत करते है आज तक आपने उनकी तारीफ नहीं की”
ये है आपका प्रोफेशनल तरिका बात करने का , आई ऍम अ राइटर एंड आई ऍम नॉट प्रोफेशनल नहीं करुँगी मैं आपके पॉकेट FM और आपके आर जे की तारीफ ,, मेरी चॉइस है। इतना टॉर्चर करने के बाद भी आप लोग मुझसे ये उम्मीद करते है की मै आपकी तारीफ करुँगी जी नहीं मैं कोर्ट जाउंगी , आपके पॉकेट FM के खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही करुँगी ताकि भविष्य में आप और आपका पॉकेट FM अपनी जेब भरने के लिए , रेटिंग के लिए किसी राइटर की इमेज और उसके प्रोफेशन के साथ खिलवाड़ ना करे !

बहुत कुछ है कहने के लिए लेकिन इस वक्त कुछ समझ आ रहा है। मेरी तरफ से लीगल एक्शन लिया जा चुका है। यूट्यूब ने अभी के लिए मेरे चैनल को होल्ड पर रखा है पर वो कभी भी बंद हो सकता है। चैनल बंद होने का दुःख बिल्कुल नहीं है क्योकि “संजना किरोड़ीवाल” की किस्मत का
फैसला महज एक चैनल तो बिल्कुल नहीं कर सकता। मैं अपनी रायटिंग जारी रखूंगी , लेकिन ये सब पढ़ने के बाद अगर वाकई आप सबको लगता है की “पॉकेट FM” ने जो किया वो गलत किया तो मेरी आप सबसे रिक्वेस्ट है सपोर्ट कीजिये ,, ऐसे सेल्फिश FM को सपोर्ट करने से अच्छा है आप अपने उन राइटरस को सपोर्ट करे जिनकी कहानियाँ आप लोग पसंद करते है ,,,,,,,,,,,,,!!!
आप रीडर्स जब एक FM को इतना आगे ले जा सकते है तो आप रीडर्स ही अब उन्हें ये अहसास दिलाये की वो गलत है , और वो जो कर रहे है वो भी गलत कर रहे है। अगर आप लोग मुझ पर थोड़ा सा भी भरोसा करते है और ये मानते है की मैं गलत नही हूँ तो कल सुबह 10.00 बजे ट्वीटर पर आईये और मेरे साथ ट्वीट कीजिये।
ट्वीट क्या करना है ये कल सुबह आप सबको मेरे सोशल मीडिया अकाउंट्स ( फेसबुक , इंस्टा , ट्वीटर ) पर मिल जाएगा। आप अपनी तरफ से लिख सकते है आप रीट्वीट कर सकते है। मुझे “पॉकेट FM” से कोई दुश्मनी नहीं है पर जो उन्होंने इस बार किया है उसका उन्हें जवाब मिलना बहुत जरुरी है क्योकि अगर नहीं बोला तो आगे जाकर ना जाने कितनी ही “संजना” ऐसे मदद मांगती नजर आएगी !!

मैं अपने रीडर्स पर बहुत भरोसा करती हूँ , उम्मीद है आप लोग इसे समझेंगे और साथ देंगे। आज इस बुरे वक्त में अगर आप लोग मेरे साथ खड़े होते है तो मैं वादा करती हूँ भविष्य में आप भी मुझे अपने साथ खड़ा पाएंगे। आज शाम 7 से कल शाम 7 बजे तक आप लोगो से जो हो सकता है कीजिये , यूट्यूब को मेल कीजिये , ट्वीट कीजिये पोस्ट कीजिये पर इस बार इनके घिनोने सच को सामने ले आईये !!
पिछले 2 साल से मैं सब झेल रही हूँ , इन्होने मेरा मेन्टल पीस (दिमागी शांति) एकदम खत्म कर दिया है। ये जितना डरा सकते थे इन्होने डराया और अब तो वो डर भी खत्म हो चुका है। मैं ये सब कभी लोगो के सामने लाना नहीं चाहती थी लेकिन “पॉकेट FM” ने मुझे मजबूर कर दिया है। अब बस आप लोगो का साथ और दुआ है जो मुझे इनसे लड़ने की हिम्मत दे सकता है। नए राइटर्स से मेरी यही रिक्वेस्ट है की भले अपनी कहानियो को अपने चैनल पर चला ले लेकिन ऐसे लोगो को बिल्कुल ना दे जिन्हे आपकी मेहनत की कदर ना हो !!

Stop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin WritersStop Ruin Writers

facebook | instagram | twitter
हर हर महादेव !!

संजना किरोड़ीवाल

94 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!